The Definitive Guide to यह मंत्र लिखने के दस मिनट बाद जो नाम 10 बार बोलोगे वो वश में हो जायगा +91-9914666697




वे सिर पर एक साफा , कमर में एक धोती और तन ढकने के लिए एक अंगरखा धारण करते थे !

.इसके पश्चात उन्होंने अपने खान पान और रहन-सहन मे बहुत बदलाब किये … अध्याय ५ ‘

यहाँ लेखक का अभिप्राय है की उसे समय में व्याप्त बुराइयों तथा दुष्टों का संहार बाबा ने इसीलिए नही किया क्योकि ये काम ईश्वरीय अवतार का होता है !! फिर आगे पुनः अवतार कह दिया ।

मां स भक्षयिताऽमुत्र यस्य मांसमिहाद् म्यहम्।

वो संत जो खुद एक मस्जिद में रहता था, सबके सामने कुरान पढता था और एक ही संदेश देता था की मुझे मरने के बाद दफना देना,, ना की जला देना, पर अधिकतर मुर्ख लोग उसे समझ नहीं पाए और उसे अपने भगवानो से ऊपर दर्जा देकर एक ऐसे मुर्दे को पूजते है जो स्वयं एक मुसलमान है…

शिरडी साईं की जिंदगी एक मस्जिद में व्यतीत हुई और उनका अधिकतर समय इस्लामी भगवान “अल्लाह” के लिए जाप करके कटी

साईं भक्तों बाबा ने अपने मुह से कभी अपने जन्म,माँ,बाप और अपने गुरु के बारे में नहीं कहा,तो यह झूठी कहानियां किसलिए सिर्फ बाबा के नाम पर पैसे बटोरने के लिए.आँखें खोलो और साजिश को समझो.

मेने नही किया है इस साईट पर उपलब्ध है :–

इससे पूर्व शिर्डी साईं को गली का कुता भी नही जनता था read more :- आगे सिद्ध किया गया है !

. An air of dignity would So have attended the argument. The Muslims desired Sai Baba for being allowing the new tomb to resemble a dargah

जब इतना अधिक सम्मान दिया गया है तो इसकी जाँच भी करनी आवश्यक है !

और बाबा पुनः आये भी !! पता है वो कोन थे ? ये थे —> 

बाबा को उससे किसी बात पे मतभेद हो गया

दूसरी और भारत या अन्य गैर मुस्लिम देशो में भी अब जबरदस्ती सबका मालिक एक बनाने के लिए उन्हें मारा काटा जा रहा है,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *